Russia-Ukraine War- India TV Hindi
Image Source : PTI
Russia-Ukraine War

Highlights

  • रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने पश्चिमी देशों को दी थी धमकी
  • ब्रिटेन भेजेगा यूक्रेन को मिसाइल प्रणाली M270 लॉन्चर
  • 80 किलोमीटर की दूरी तक सटीक निशाना साधने में सक्षम

Russia-Ukraine War: रूस और यूक्रेन युद्ध को तीन महीने से ज्यादा वक्त बीत चुके हैं। हालांकि, अभी भी दूर-दूर तक शांति की कोई उम्मीद नहीं दिख रही है। बीते दिनों रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पश्चिमी देशों को धमकी दी थी। पुतिन ने सख्त लहजे में कहा था कि अगर पश्चिमी देशों ने यूक्रेन को लंबी दूरी वाले रॉकेट दिए, तो रूस नए लक्ष्यों को निशाना बनाएगा।

हालांकि, ब्रिटेन ने पुतिन की धमकी को दरकिनार करते हुए कहा कि वह यूक्रेन को लंबी दूरी की मिसाइल प्रणाली भेजेगा। देश के रक्षा मंत्री ने सोमवार को यह जानकारी दी। अत्याधुनिक एम-270 शस्त्र प्रणाली के सैन्य महत्व पर ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय (एमओडी) ने कहा कि यह 80 किलोमीटर की दूरी तक सटीक निशाना साधने में सक्षम है। यह यूक्रेन के सैनिकों के लिए रक्षा क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि की पेशकश करेगी। 

मंत्रालय ने कहा कि उसके निर्णय को मल्टी-लॉन्च रॉकेट सिस्टम्स के हाई मोबिलिटी आर्टिलरी रॉकेट सिस्टम (हिमार्स) संस्करण को उपहार में देने के अमेरिकी निर्णय के साथ निकटता से समन्वयित किया गया है। शस्त्र प्रणाली के साथ ब्रिटेन बड़े पैमाने पर एम31ए1 युद्ध सामग्री की आपूर्ति भी करेगा।

‘ब्रिटेन इस लड़ाई में यूक्रेन के साथ खड़ा है’

ब्रिटेन के रक्षा मंत्री बेन वालेस ने कहा ”ब्रिटेन इस लड़ाई में यूक्रेन के साथ खड़ा है। यूक्रेन अपने देश को अकारण आक्रमण से बचाने के लिए अपने वीर सैनिकों को महत्वपूर्ण शस्त्रों की आपूर्ति करने में अग्रणी भूमिका निभा रहा है।” रक्षा मंत्री बेन वालेस ने एक बयान में कहा ”अगर अंतरराष्ट्रीय समुदाय अपना समर्थन जारी रखता है, तो मुझे पूरा भरोसा है कि यूक्रेन रूस के खिलाफ अपनी लड़ाई जीत सकता है।” 

उन्होंने कहा ”ये अत्यधिक सक्षम रॉकेट प्रणाली हमारे यूक्रेन के दोस्तों को लंबी दूरी की तोपखाने के क्रूर उपयोग के खिलाफ खुद को बेहतर ढंग से बचाने में सक्षम बनाएंगे, जिसका रूसी राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन की सेना ने अंधाधुंध तरीके से शहरों को समतल करने के लिए इस्तेमाल किया है।” 

यूक्रेनी सैनिकों के अनुरोध के जवाब में मंत्री का बयान

मंत्री का ये बयान तब आया, जब रूस के शस्त्रों से खुद को बचाने के लिए यूक्रेन के सैनिकों ने लंबी दूरी के सटीक शस्त्रों के लिए अनुरोध किया था, जिसका उपयोग यूक्रेन के पूर्वी डोनबास क्षेत्र में विनाशकारी प्रभाव के लिए किया गया है। उन्होंने कहा कि यूक्रेन के सैनिकों को ब्रिटेन में मिसाइल का उपयोग करने के तरीके के बारे में प्रशिक्षित किया जाएगा, ताकि वे प्रणाली की प्रभावशीलता को खत्म कर सकें। 

ब्रिटिश सरकार ने बताया कि यूक्रेन को घातक सहायता की आपूर्ति करने वाला ब्रिटेन पहला यूरोपीय देश था, और तब से उसने यूक्रेन के सैनिकों को हजारों टैंक-रोधी मिसाइलें, वायु-विरोधी प्रणालियां और बख्तरबंद वाहन उपलब्ध कराए हैं। 

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.