नई दिल्ली. मध्य प्रदेश ने रणजी ट्रॉफी के चौथे क्वार्टर फाइनल में पंजाब को 10 विकेट से हराकर सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली. यह 6 साल बाद होगा, जब मध्य प्रदेश की टीम रणजी ट्रॉफी का सेमीफाइनल खेलती नजर आएगी. पिछली बार 2016 में रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में मध्य प्रदेश को मुंबई के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. मध्य प्रदेश रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहुंचने वाली तीसरी टीम है. इससे पहले, मुंबई और उत्तर प्रदेश ने अपने-अपने क्वार्टर फाइनल मुकाबले जीतकर अंतिम-4 में जगह बनाई.

मध्य प्रदेश के लिए यह सफलता इसलिए भी खास है, क्योंकि इस मुकाबले में टीम अपने दो स्टार खिलाड़ियों के बिना उतरी थी. टीम के पेसर आवेश खान और ऑलराउंडर वेंकटेश अय्यर को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 5 टी20 की सीरीज के लिए टीम इंडिया में चुना गया है. ऐसे में यह दोनों इस मैच में मध्य प्रदेश टीम का हिस्सा नहीं थे. इसके बावजूद मध्य प्रदेश ने पंजाब को हराते हुए सेमीफाइनल का टिकट कटाया. अब सेमीफाइनल में मध्य प्रदेश की टक्कर बंगाल-झारखंड के बीच चल रहे मुकाबले की विजेता टीम से होगी.

एमपी के गेंदबाजों का दमदार प्रदर्शन
पंजाब के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मैच में मध्य प्रदेश की जीत में गेंदबाजों का अहम रोल रहा. पहली पारी में जहां पुनीत दाते और अनुभव अग्रवाल ने पंजाब की टीम को जल्दी आउट कर जीत की नींव रखी, तो दूसरी पारी में स्पिन गेंदबाज कुमार कार्तिकेय और सारांश जैन ने दमदार खेल दिखाया और टीम को 10 विकेट से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई. कुमार कार्तिकेय ने दूसरी पारी में 34 ओवर में 50 रन देकर 6 विकेट झटके. सारांश जैन के खाते में भी 4 विकेट आए.

Ranji Trophy QF: मुंबई की विशाल जीत, उत्तराखंड को 725 रन से हराया

उमरान मलिक या अर्शदीप सिंह? पहले T20 में किसे खेलना चाहिए, जानें पूर्व कोच लालचंद राजपूत ने क्या कहा

शुभम शर्मा ने शानदार शतक ठोका
क्वार्टर फाइनल मैच में पंजाब ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पहली पारी में 219 रन बनाए थे. इसके जवाब में मध्य प्रदेश ने शुभम शर्मा के 102 रन की बदौलत पहली पारी में 397 रन ठोक डाले और पंजाब के खिलाफ 178 रन की बढ़त हासिल कर ली. दूसरी पारी में भी मध्य प्रदेश के गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की और पंजाब को बड़ा स्कोर खड़ा नहीं करने दिया. पंजाब की पूरी टीम दूसरी पारी में 203 रन ही बना सकी. मध्य प्रदेश को 26 रन का लक्ष्य मिला. जिसे उसने बिना कोई विकेट गंवाए हासिल कर लिया और 2016 के बाद पहली बार सेमीफाइनल में जगह बना ली.

Tags: Avesh khan, Madhya pradesh news, Ranji Trophy, Venkatesh Iyer

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.