कराची. पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व खिलाड़ी शाहिद अफरीदी ने स्वीकार किया है कि उन्होंने 2005 में इंग्लैंड के खिलाफ एक टेस्ट मैच के दौरान फैसलाबाद की पिच से छेड़छाड़ की थी. अफरीदी, जो अपनी बड़ी हिटिंग के साथ-साथ स्पिन गेंदबाजी के लिए भी जाने जाते थे, ने कहा कि वह उस पिच से निराश थे जिसके कारण उन्होंने उससे छेड़छाड़ की कार्रवाई को अंजाम दिया. उन्होंने यह भी कहा कि पाकिस्तान के पूर्व कप्तान शोएब मलिक उनकी इस योजना के बारे में जानते थे और उन्होंने प्रोत्साहित भी किया था.

अफरीदी ने समा टीवी के एक शो में कहा, टेस्ट मैच फैसलाबाद में था. गेंद ना स्पिन हो रही थी, ना स्विंग हो रही थी औरह ना ही सीमिंग हो रही थी. मैं अपनी पूरी ताकत लगा रहा था, लेकिन कुछ भी नहीं हो रहा था. फिर अचानक, एक गैस सिलेंडर में विस्फोट हो गया और सभी का ध्यान भटक गया. मैंने मलिक (शोएब मलिक) से कहा, ‘मेरा दिल चाह रहा है मैं इधर पैच बना दूं. ताकि बॉल तो टर्न हो!’

इतने मतलबी हैं… इनसे छुटकारा पाने का समय आ गया… जानें क्यों किया शाहीन अफरीदी ने ट्वीट

अफरीदी ने घटना का जिक्र करते हुए आगे कहा, ‘मलिक ने जवाब दिया, ‘कर दे. कोई नई देख रहा’ (करो, कोई नहीं देख रहा है). तो मैंने फिर वह किया. और फिर, जो हुआ वह इतिहास है. वह घटना… जब मैं पीछे मुड़कर उस वक्त को देखता हूं, तो मुझे एहसास होता है कि यह एक गलती थी.’

अफरीदी ने जिस टेस्ट मैच का उल्लेख किया वह 2005 में पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच तीन मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा मैच था. पाकिस्तान ने मुल्तान में पहला टेस्ट मैच 22 रन से जीता, जबकि फैसलाबाद में दूसरा मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ. मेजबान टीम ने लाहौर में तीसरा टेस्ट पारी और 100 रन से जीतकर सीरीज 2-0 से अपने नाम कर ली. वनडे क्रिकेट में सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड अफरीदी के नाम दर्ज है. उन्हें क्रिकेट के मैदान पर एक हरफनमौला खिलाड़ी के रूप में जाना जाता है.

Tags: Pakistan, Shahid afridi

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.