नई दिल्ली. भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच मंगलवार (14 जून) को पांच टी20 की सीरीज का तीसरा मुकाबला विशाखापट्टनम में खेला जाएगा. टीम इंडिया सीरीज के पहले दो मुकाबले गंवा चुकी है. अगर विशाखापट्टनम में भी हार मिली, तो फिर सीरीज हाथ से फिसल जाएगी और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीनों फॉर्मेट मिलाकर इस साल भारतीय टीम की यह 8वीं हार होगी. इस सीरीज में टीम इंडिया को रेगुलर कप्तान रोहित शर्मा की कमी सिर्फ बल्लेबाजी ही नहीं, बल्कि कप्तानी में भी खल रही है. उनके स्थान पर केएल राहुल को इस सीरीज के लिए भारतीय टीम का कप्तान बनाया गया था. लेकिन, वो पहले टी20 से ऐन पहले चोटिल होकर सीरीज से बाहर हो गए. उनके स्थान पर ऋषभ पंत को कप्तानी सौंपी गई. लेकिन, वो भी टीम इंडिया की जीत नहीं दिला पाए.

रोहित शर्मा टीम इंडिया के लिए बतौर कप्तान क्यों जरूरी है? इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उनके बिना इस साल भारतीय टीम एक भी मुकाबला नहीं जीती है. रोहित शर्मा बतौर कप्तान इस साल एक भी मैच नहीं हारे हैं. जबकि उनकी गैरहाजिरी में विराट कोहली, केएल राहुल ने भी इस साल टीम इंडिया की कप्तानी की है. लेकिन, इनकी अगुवाई में भारत एक भी मैच नहीं जीत पाया. वहीं, ऋषभ पंत भी बतौर कप्तान 2 टी20 हार चुके हैं.

विराट-राहुल की कप्तानी में भारत एक मैच भी नहीं जीता
इस साल की शुरुआत में टीम इंडिया दक्षिण अफ्रीका दौरे पर थी और जनवरी के पहले हफ्ते में टेस्ट सीरीज का दूसरा मुकाबला जोहानिसबर्ग में खेला गया था. इस मैच में विराट कोहली के चोटिल होने के कारण केएल राहुल ने कप्तानी की थी और उनकी अगुवाई में भारत यह टेस्ट 7 विकेट से हार गया था. विराट ने केपटाउन में हुए तीसरे टेस्ट में बतौर कप्तान वापसी की. लेकिन, वो टीम इंडिया को जीत नहीं दिला पाए और भारत इस टेस्ट को हारने के साथ ही सीरीज भी हार गया. इस हार के साथ ही बतौर भारतीय कप्तान विराट का सफर भी थम गया.

इसके बाद भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन वनडे की सीरीज हुई. इसमें केएल राहुल ने टीम इंडिया की कप्तानी की और मेजबान देश ने तीनों ही वनडे में भारत का सफाया कर दिया. केएल राहुल की कप्तानी में भारत ने अफ्रीका दौरे पर 4 मैच खेले और चारों ही गंवाए.

रोहित की कप्तानी में इस साल भारत ने सभी मैच जीते
इसके बाद रोहित शर्मा की घरेलू सीरीज के लिए बतौर कप्तान टीम इंडिया में वापसी हुई और उनके आते ही टीम इंडिया की रूठी किस्मत जाग गई और जीत का सिलसिला शुरू हो गया. रोहित की कप्तानी में भारत ने फरवरी में वेस्टइंडीज को 3 वनडे की सीरीज के साथ इतने ही टी20 की सीरीज में क्लीन स्वीप किया. इसके बाद भारतीट टीम ने रोहित की अगुवाई में श्रीलंका की मेजबानी की. पहले 3 टी20 की सीरीज में लंकाई टीम का सफाया किया और फिर दोनों टेस्ट भी जीते. यानी रोहित ने इस साल तीनों फॉर्मेट मिलाकर कुल 11 मैच ( 2 टेस्ट, 3 वनडे और 6 टी20) में भारत की कप्तानी की और उनकी कप्तानी में भारत ने सभी 11 मैच यानी 100 फीसदी मुकाबले जीते.

Ind vs SA 3rd T20 Probable Playing XI: तीसरे टी20 मैच में ऐसी हो सकती है टीम इंडिया की प्लेइंग XI, दो बदलाव संभव

IND VS SA: मैच से पहले जहीर खान ने बताया, क्या है अफ्रीका के खिलाफ भारत की सबसे बड़ी ‘चिंता’

पंत पर होगी सीरीज हार टालने की जिम्मेदारी
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज के लिए पहले केएल राहुल को ही कप्तान बनाया गया था. लेकिन, उनके चोटिल होने के कारण सीरीज से ठीक पहले ऋषभ पंत को यह जिम्मेदारी सौंपी गई. लेकिन, उनकी लीडरशिप में भारत पहले दोनों टी20 हार गया. ऐसे में पंत जब तीसरे टी20 के लिए मैदान में उतरेंगे तो फैंस को यही उम्मीद होगी कि वो रोहित के बिना टीम इंडिया को इस साल की पहली जीत दिलाने के साथ सीरीज हार का खतरा भी टाल सकें.

Tags: India vs South Africa, KL Rahul, Rishabh Pant, Rohit sharma, Team india, Virat Kohli

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.