कोलंबो. श्रीलंका के 1996 विश्व कप विजेता कप्तान अर्जुन रणतुंगा के छोटे भाई को उगाही के एक मामले में दोषी पाया गया है. श्रीलंका की हाई कोर्ट ने अर्जुन के भाई प्रसन्ना रणतुंगा को 2 साल की कड़ी कैद की सजा सुनाई है. प्रसन्ना की पत्नी को हालांकि तमाम आरोपों से बरी कर दिया गया है. प्रसन्ना श्रीलंका में शहरी विकास मंत्री के पद पर भी थे. श्रीलंका में वित्तीय कारणों के चलते हालात काफी खराब हैं.

58 वर्षीय अर्जुन के छोटे भाई और श्रीलंका के शहरी विकास मंत्री प्रसन्ना रणतुंगा पर एक व्यवसायी को धमकी देकर उगाही करने का आरोप लगा था. यह मामला 7 साल पहले दर्ज किया गया था. अब इस मामले में हाई कोर्ट ने सजा सुनाई है. कोर्ट ने प्रसन्ना को इस मामले में दोषी पाए जाने पर 2 साल की कड़ी कैद की सजा सुनाई है.

इसे भी देखें, श्रीलंका के खिलाफ पहले टी20 मैच के लिए ऑस्ट्रेलिया ने घोषित की टीम

शहरी विकास मंत्री प्रसन्ना रणतुंगा के खिलाफ मामला 2015 में दर्ज किया गया था. उच्च न्यायालय ने प्रसन्ना को दो साल के कड़े कारावास की सजा सुनाई. प्रसन्ना की पत्नी को तमाम आरोपों से बरी कर दिया गया. प्रसन्ना को ढाई करोड़ रुपये जुर्माना भरने और 10 लाख रुपये व्यवसायी को हर्जाने के रूप में देने का आदेश भी दिया गया.

अर्जुन रणतुंगा की बात करें तो उनकी गिनती श्रीलंका के दिग्गज खिलाड़ियों में होती है. उन्होंने अपने करियर में 93 टेस्ट मैचों में 5105 रन जबकि 269 वनडे मुकाबलों में कुल 7456 रन बनाए हैं. दोनों फॉर्मेट में उनके नाम 4-4 शतक हैं. उन्होंने टेस्ट में 16 और वनडे में 79 विकेट भी लिए हैं.

Tags: Cricket news, Crime News, ODI World Cup, Sri lanka

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.