नई दिल्ली. धुरंधर बल्लेबाज विराट कोहली (Virat Kohli) हाल के दिनों में खराब फॉर्म में चल रहे हैं. दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने नवंबर 2019 के बाद से किसी भी फॉर्मेट में शतक नहीं बनाया है. हालांकि, यह कोई पहला मौका नहीं है जब उन्होंने बल्ले से मुश्किल वक्त का सामना किया है. कोहली की दिल्ली टीम के पूर्व साथी प्रदीप सांगवान ने एक पुराना किस्सा सुनाया है. प्रदीप ने बताया है कि कैसे एक मजाक के चलते विराट कोहली रोने लगे थे और पूरी रात सो भी नहीं पाए.

पूर्व भारतीय कप्तान पिछले एक दशक में सबसे प्रसिद्ध क्रिकेटरों में से एक रहे हैं. इस धुरंधर बल्लेबाज ने 2008 में राष्ट्रीय टीम के लिए पदार्पण किया और तीनों फॉर्मेट में 70 शतकों के साथ 23,000 से अधिक रन बनाए है. दुनिया के दिग्गज क्रिकेटरों में शुमार विराट कोहली भारत के 2011 विश्व कप और 2013 चैंपियंस ट्रॉफी जीत का भी हिस्सा रहे हैं.

इसे भी देखें, विराट के समर्थन में उतरे पाकिस्तान के पूर्व कप्तान, बोले- क्रिकेट की भलाई के लिए फॉर्म में लौटेंगे किंग कोहली

गुजरात टाइटंस के खिलाड़ी प्रदीप सांगवान ने विराट कोहली से जुड़े एक मजेदार किस्से के बारे में बताया है. यह घटना तब की है जब कोहली और सांगवान दिल्ली अंडर-17 टीम के साथी थे. उनके कोच ने विराट के साथ मजाक करने की योजना बनाई. प्रदीप ने न्यूज24 से कहा, ‘हम पंजाब में एक अंडर-17 मैच में खेल रहे थे. वह (कोहली) पिछली 2-3 पारियों में बड़ा स्कोर नहीं बना पाए थे. हमारे कोच तब अजीत चौधरी थे जो विराट को ‘चीकू’ कहकर बुलाते थे.’

प्रदीप सांगवान ने आगे कहा, ‘विराट हमारी टीम के मुख्य खिलाड़ी थे और अजीत सर ने मजाकिया अंदाज में सुझाव दिया- चलो विराट से कहते हैं कि वह अगले मैच में नहीं खेलेंगे. हम सभी इस शरारत में शामिल हुए. टीम मीटिंग में अजीत सर ने विराट के नाम की घोषणा नहीं की. वह अपने कमरे में गए और रोने लगे. उन्होंने सर को फोन किया और कहा कि मैंने 200 और 250 रन बनाए हैं. ईमानदारी से कहूं तो उन्होंने उस सीजन में बड़े स्कोर किए थे लेकिन हां पिछली 2-3 पारियों में जूझे. वह इतने भावुक हो गए कि उन्होंने राजकुमार सर (विराट के बचपन के कोच) को भी फोन किया.’

पूरी तरह व्याकुल हो चुके विराट दिल्ली के इस तेज गेंदबाज के पास पहुंचे और उनसे अपनी कमियों के बारे में पूछा. विराट ने बताया कि वह पूरी रात इसी वजह से सो नहीं पाए. सांगवान ने कहा, ‘फिर, वह मेरे पास आए और पूछा, ‘मुझे बताओ, क्या हुआ है? मैंने इस सीजन में इतने रन बनाए हैं. मैंने उनसे कहा, ‘हाँ हाँ, यह बहुत गलत है!’. वह रात भर सो भी नहीं पाए. उन्होंने कहा, ‘नहीं, मैं सोना नहीं चाहता. जब मैं नहीं खेल रहा हूं तो सोने का क्या मतलब?’ फिर, मैंने उससे कहा कि वह अगले मैच में खेल रहे है. यह सब एक शरारत का हिस्सा था.’

Tags: Delhi cricket, Indian cricket, Virat Kohli, Virat Kohli Record

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.