नई दिल्ली. भारत के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर संजय मांजरेकर का मानना है कि विराट कोहली का ‘पावरगेम’ धीरे-धीरे लौट रहा है और टी20 विश्व कप से पहले वह चिर परिचित लय में आ रहे हैं. कोहली ने करीब तीन साल तक खराब फॉर्म से जूझने के बाद एक महीने का ब्रेक लिया था. वह एशिया कप में फॉर्म में लौटे और भारत के लिये सर्वाधिक रन बनाए. इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भी टी20 सीरीज में अच्छा प्रदर्शन किया.

मांजरेकर ने स्पोटर्स 18 के ‘स्पोटर्स ओवर द टॉप’ शो पर कहा, ‘एशिया कप के हर मैच से उन्होंने रन बनाये और सिर्फ रन ही नहीं बनाये, बल्कि प्रदर्शन में सुधार भी हुआ है. मुझे लगता है कि पावरगेम लौट आया है. उसका अपने पावरगेम पर भरोसा लौट रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘एक समय था जब उसके रन बन रहे थे, लेकिन पावरगेम नहीं लौट रहा था. अब वह लौट रहा है.’ उन्होंने कहा कि वह अच्छे चौके छक्के लगा रहे हैं जो अच्छा संकेत है.

बांग्लादेश के हिंदू क्रिकेटर ने दी दुर्गा पूजा की बधाई, तो कट्टरपंथियों से मिली धमकी, धर्म बदलने को कहा

मांजरेकर ने कहा, ‘वह अच्छी गेंदों पर चौके छक्के लगा रहा है और यह आत्मविश्वास से आता है. यह ऐसा खिलाड़ी है जिसका आत्मविश्वास जबर्दस्त है और इसी से वह उत्कृष्ट प्रदर्शन करता आया है, लेकिन लंबे समय से रन नहीं बन रहे थे जिससे उसका आत्मविश्वास हिल गया था.’ तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार और हर्षल पटेल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ काफी महंगे साबित हुए. मांजरेकर का मानना है कि भुवनेश्वर पर अतिरिक्त बोझ था.

उन्होंने कहा, ‘भुवनेश्वर कुमार पर जरूरत से ज्यादा बोझ है और वह काफी क्रिकेट खेल रहा है. उसने सारे मैच खेले और इस सीरीज में भी. उसे ब्रेक की जरूरत है जिसके बाद वह तरोताजा होकर खेलता है.’ उन्होंने कहा, ‘हर्षल पटेल की अपनी सीमायें हैं. भारत को तीसरे तेज गेंदबाजी विकल्प के लिये और विकल्प आजमाने चाहिये. मोहम्मद शमी भी एक विकल्प है.’

Tags: Sanjay Manjrekar, T20 World Cup, T20 World Cup 2022, Team india, Virat Kohli

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.