हैदराबाद. जब रवींद्र जडेजा को दाहिने घुटने की सर्जरी के कारण अगले महीने ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी20 विश्व कप के लिए चयन से बाहर कर दिया गया था, तो कई लोगों ने महसूस किया था कि भारत गेंदबाजी विभाग में ऑलराउंडर और शानदार फिल्डर की कमी को मिस करेगा. लेकिन रविवार को 2-1 से हैदराबाद में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ भारत की टी20 सीरीज जीत में अक्षर पटेल ने जडेजा की कमी महसूस नहीं होने दी.

हाल ही में समाप्त हुई तीन मैचों की सीरीज में, अलग-अलग गति के अलावा सही लाइन और लेंथ की मदद से पटेल ने 6.3 की इकॉनमी से आठ विकेट लिए, जिससे उन्हें ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ पुरस्कार से नवाजा गया. रविवार को, ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच एंड्रयू मैकडॉनल्ड इस बात से हैरान रह गए थे कि कैसे भारत ने जडेजा की अनुपस्थिति से निपटने के लिए अक्षर पटेल का सहारा लिया, जिन्होंने पूरी सीरीज में मेहमानों को अपनी फिरकी से बहुत परेशान किया.

कैमरन ग्रीन ने बढ़ाई ऑस्ट्रेलियाई सेलेक्टर्स की चिंता, टीम इंडिया के खिलाफ बना गए दो खास रिकॉर्ड

मैकडॉनल्ड ने कहा, ‘विशेष रूप से अक्षर पटेल के लिए एक शानदार सीरीज थी. जडेजा के ना होने के साथ, सभी ने सोचा कि यह भारत के लिए थोड़ी कमजोरी बन सकती है. लेकिन अक्षर ने उनकी कमी महूसस नहीं होने दी. हमने बीच में स्पिन के साथ संघर्ष किया और रात में विकेट थोड़ा तेज हो गया. इससे इनकार नहीं किया जा सकता है और कुल का बचाव करना कठिन हो गया.

सीरीज में, ऑस्ट्रेलिया और भारत दोनों ने डेथ ओवरों में गेंद से संघर्ष किया. रविवार को, सूर्यकुमार यादव और विराट कोहली ने शानदार पारियां खेलीं, जिसके बाद हार्दिक पंड्या ने 187 रनों का पीछा किया. मेहमान टीम का गेंदबाजी आक्रमण चोटिल मिशेल स्टार्क को छोड़कर अंतिम पांच ओवरों में किसी ने बेहतर गेंदबाजी नहीं की. जोश हेजलवुड और पैट कमिंस सीरीज के दौरान डेथ ओवरों में ज्यादा गेंदबाजी नहीं कर रहे हैं, जिससे मैकडॉनल्ड को लगता है कि स्टार्क की वापसी से उनकी डेथ ओवरों की स्थिति बेहतर हो सकती है.

Tags: Australia, Axar patel, Team india

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.