नई दिल्ली. मध्यप्रदेश ने रविवार को इतिहास रचते हुए पहली बार रणजी ट्रॉफी चैंपियन बनने का गौरव हासिल किया. आदित्य श्रीवास्तव की कप्तानी वाली इस टीम ने फाइनल मुकाबले में 41 बार के चैंपियन मुंबई को मात दी. पूर्व भारतीय कोच लालचंद राजपूत ने इस पर टीम के कप्तान आदित्य और कोच चंद्रकांत पंडित को बधाई दी. उन्होंने साथ ही बताया कि रणजी ट्रॉफी चैंपियन बनना किसी टीम और उसके खिलाड़ियों पर क्या असर डालता है.

बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेले गए रणजी ट्रॉफी 2021-22 के फाइनल मैच में मुंबई ने टॉस जीतकर पहली पारी में 374 रन बनाए. इसके बाद मध्यप्रदेश ने ओपनर यश दुबे, शुभम शर्मा और रजत पाटीदार के शतकों की बदौलत 536 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया. मुंबई की दूसरी पारी 269 रन पर सिमटी जिससे मध्यप्रदेश को जीत के लिए 108 रन का लक्ष्य मिला. एमपी ने इसे 29.5 ओवर में 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया.

इसे भी देखें, रजत पाटीदार सहित मप्र की पूरी टीम ने जमकर किया डांस, चंद्रकांत पंडित भी झूमे, VIDEO

टीम इंडिया के पूर्व विश्व विजेता कोच लालचंद राजपूत ने न्यूज18 स्पोर्ट्स से खास बातचीत में कहा, ‘रणजी ट्रॉफी फाइनल जीतना बहुत बड़ी बात होती है. मध्य प्रदेश ने 41 बार की चैंपियन टीम मुंबई को हराया. इसके लिए टीम के कप्तान और कोच भी बधाई के पात्र हैं.’

उन्होंने साथ ही एमपी टीम के स्टार खिलाड़ी रजत पाटीदार की तारीफ की. लालचंद ने कहा, ‘रजत पर चयनकर्ता नजर जरूर रखेंगे. उन्होंने आईपीएल में अच्छा किया. रणजी में भी बेहतरीन प्रदर्शन किया.’ उन्होंने आगे कहा, ‘टीम इंडिया मे विराट कोहली, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा बहुत समय तक खेलने वाले नहीं हैं. ऐसे में युवा खिलाड़ियों के पास मौके हैं. मुझे लगता है कि कम से कम 4 ऑप्शन होंगे.’

60 वर्षीय राजपूत ने कहा, ‘रणजी के नए खिलाड़ियों को मौका देने का सही समय है. खिलाड़ियों को टीम इंडिया का दरवाजा खटखटाना है. रणजी ट्रॉफी जीतने के बाद लगातार अच्छा प्रदर्शन करना होगा. एक साल में काफी मौके आएंगे. ऐसे खिलाड़ियों को मौका दिया जाएगा.’

Tags: Hindi Cricket News, Indian cricket, Lalchand Rajput, Madhya pradesh news, Ranji Trophy

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.