नई दिल्ली. भारतीय टीम एक से एक क्रिकेटर हैं. बड़े-बड़े मैचविनर, जिनकी तारीफ में उनके फैंस जमीन-आसमान एक कर सकते हैं. पूर्व क्रिकेटर उन पर घंटों बोल सकते हैं. और एक खिलाड़ी ऐसा भी है, जिसका नाम आने पर सिर्फ शक जाहिर किया जाता है. 18 साल से भारत के लिए खेल रहा यह खिलाड़ी आज टीम का सबसे अंडररेटेड खिलाड़ी है. हम बात कर रहे हैं विकेटकीपर बैटर दिनेश कार्तिक की. डीके भारत के लिए तकरीबन हर फॉर्मेट में हर भूमिका में बैटिंग कर चुके हैं. एमएस धोनी से लेकर ऋषभ पंत, संजू सैमसन, ईशान किशन तक भारतीय विकेटकीपरों की लंबी फेहरिश्त में डीके ही ऐसे हैं, जो इस सदी के तीनों दशक में खेले हैं. यह अलग बात है कि दिनेश कार्तिक को पूरे करियर के दौरान यह सुनने को मिला कि उनकी जगह किसी और बैटर को टीम में जगह दी जा सकती थी या देनी चाहिए.

भारतीय टीम इन दिनों यूएई में एशिया कप में हिस्सा ले रही है. इस टीम में दिनेश कार्तिक ऐसा नाम है, जिसके सलेक्शन पर सबसे ज्यादा नाक-भौं सिकोड़े गए. तब तो जैसे भूचाल ही आ गया, जब एशिया कप के पहले मैच में पाकिस्तान के खिलाफ ऋषभ पंत को ड्रॉप कर दिया गया और डीके प्लेइंग इलेवन में शामिल रहे. सबसे ज्यादा गुस्से में कार्तिक के साथी खिलाड़ी रह चुके गौतम गंभीर नजर आए. दिलचस्प बात यह है कि दिनेश कार्तिक और गौतम गंभीर दोनों का टेस्ट करियर एक ही मैच से शुरू हुआ था. भारत ने जब 2007 में टी20 वर्ल्ड कप जीता तब डीके और गौटी दोनों ही विजेता टीम का हिस्सा थे.

गौतम गंभीर समेत कई पूर्व क्रिकेटरों को दिनेश कार्तिक के बहाने टीम इंडिया पर सवाल उठाने का एक और मौका जल्दी ही मिल गया, जब हॉन्गकॉन्ग के विरुद्ध दिनेश कार्तिक प्लेइंग इलेवन में बने रहे और हार्दिक पंड्या को रेस्ट दे दिया गया. एक बार फिर टीम मैनेजमेंट और सिलेक्शन पर सवाल होने लगे. पूर्व कप्तान अजय जडेजा भी कह चुके हैं कि उनकी प्लेइंग इलेवन में दिनेश कार्तिक की जगह नहीं बनती. मजेदार बात यह है कि जब आप इन पूर्व क्रिकेटरों की बातें सुनेंगे तो पाएंगे कि बात खिलाड़ी की फॉर्म की हो रही है, स्ट्रेटजी की हो रही है. खिलाड़ी के रोल की हो रही है. यह अलग बात है कि कार्तिक को चुने जाने के लिए टीम मैनेजमेंट उनके रोल की ही बात कर रहा है.

कप्तान रोहित शर्मा की टीम ने यह साफ कर दिया है कि वह हर खिलाड़ी को एक तय भूमिका में देख रही है. दिनेश कार्तिक फिनिशर की भूमिका में देखे जा रहे हैं. डीके ने इस साल आईपीएल में फिनिशर की बेहतरीन भूमिका निभाई थी. इसी क बाद उन्हें टीम में शामिल किया गया. यह भी साफ है कि कोच राहुल द्रविड़ का भी उन्हें पूरा साथ मिल रहा है. तभी वे ऋषभ पंत, दीपक हुड्डा जैसे बैटर के रहते भी प्लेइंग इलेवन में बार-बार चुने जा रहे हैं.

ऐसा भी नहीं है कि क्रिकेट जगत में सिर्फ दिनेश कार्तिक के आलोचक ही हैं. हरभजन सिंह, मनिंदर सिंह, चेतेश्वर पुजारा जैसे दिग्गज उनके समर्थन में खुलकर बोल रहे हैं. इन सभी ने अलग-अलग प्लेटफॉर्म में साफ किया है कि फॉर्म और रोल दिनेश कार्तिक के पक्ष में है. हरभजन सिंह मानते हैं कि कार्तिक जितने अच्छी फॉर्म में हैं उन्हें बाहर नहीं रखा जा सकता है. यह कार्तिक को मौका दिए जाने का समय है. वह निचले क्रम में बैटिंग करते हुए भारत को जीत दिला सकते हैं.’ वहीं पुजारा ने क्रिकइंफो के एक शो में कहा, ‘पंत और कार्तिक दोनों ही अच्छा खेल रहे हैं. अब फैसला टीम मैनेजमेंट को करना है. मुझे लगता है कि नंबर 5 पर ऋषभ पंत बेहतर विकल्प है. लेकिन अगर आप अच्छे फिनिशर के साथ बल्लेबाजी करना चाहते हैं तो मुझे लगता है कि डीके बेहतर विकल्प हैं. पूर्व स्पिनर मनिंदर सिंह भी साफ कर चुके हैं कि अगर टीम मैनेजमेंट कार्तिक के साथ जा रहा है तो हमें उसका साथ देना चाहिए.

इस पूरी बातचीत में एक बार रह गई और वह है लॉन्गेस्ट करियर का. बता दें कि दिनेश कार्तिक ने पहला टी20 मैच 2006 में खेला था. दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस मैच में प्लेइंग इलेवन में शामिल रहे 11 में से 10 खिलाड़ी अब संन्यास ले चुके हैं. बस कार्तिक ही अब भी खेल रहे हैं. उनका T20I करियर 15 साल 273 का हो चुका है. किसी भी भारतीय से ज्यादा. दुनिया में सिर्फ शाकिब अल हसन और मुशफिकुर रहीम ही ऐसे क्रिकेटर हैं, जिनका टी20 करियर कार्तिक से लंबा है. वह भी सिर्फ 4 दिन का.

Tags: Asia cup, Cricket Records, Dinesh karthik, Gautam gambhir, Team india

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.