नई दिल्ली. भारत के पूर्व चयनकर्ता सबा करीम ने वरिष्ठ तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी का समर्थन करते हुए कहा कि आगामी टी20 विश्व कप में जसप्रीत बुमराह की जगह लेने के लिए वे एक अच्छा विकल्प हो सकते हैं. बुमराह पीठ में फ्रैक्चर के कारण आईसीसी टूर्नामेंट से बाहर हो गए हैं. शमी को टी20 वर्ल्ड कप के लिए भारत की 15 सदस्यीय टीम में स्टैंडबाय खिलाड़ियों की सूची में शामिल किया गया है. साथ ही, करीम ने यह भी स्पष्ट किया कि टूर्नामेंट में मेन इन ब्लू को जसप्रीत बुमराह की कमी निश्चित तौर पर खेलगी क्योंकि वह एक अद्वितीय गेंदबाज है जो नई गेंद से स्ट्राइक करने की क्षमता रखता है और डेथ ओवरों में भी बहुत असरदार होता है. बुमराह ने पिछले हफ्ते ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी दो टी20 मैच खेले थे.

सबा करीम ने स्पोर्ट्स18 के दैनिक खेल समाचार शो ‘स्पोर्ट्स ओवर द टॉप’ पर बोलते हुए कहा, ‘हां, वह इतना अनोखा गेंदबाज है. टी20 फॉर्मेट में आपको किसी ऐसे खिलाड़ी की जरूरत होती है जो नई गेंद से गेंदबाजी कर विकेट ले सके और फिर डेथ ओवरों में अपना स्पेल खत्म करने के लिए वापस आ सके. वह बेहद प्रभावी हैं और साथ ही मैच को लेकर वे काफी सचेत होते हैं. हां, मुझे लगता है कि बुमराह के बिना यह भारत के लिए एक बड़ा झटका होगा. लेकिन आप जानते हैं कि भारतीय टीम प्रबंधन और भारतीय कप्तान इसके लिए तैयारियां कर रहे थे. इसलिए उन्होंने मोहम्मद शमी को लाने के बारे में सोचा और उनके पास दीपक चाहर भी हैं. इसलिए, मुझे लगता है कि यह एक तरह से अच्छा है कि भारत ने इन सभी द्विपक्षीय कार्यक्रमों को जसप्रीत बुमराह के बिना लाइन-अप में खेला.’

जसप्रीत बुमराह की प्रतिबद्धता पर फैन्स ने उठाया सवाल, बचाव में आए पूर्व क्रिकेटर

भारतीय तेज गेंदबाजी के अगुआ जसप्रीत बुमराह चोटिल होने के कारण टी20 विश्व कप से बाहर हो गए हैं जो कि अगले महीने ऑस्ट्रेलिया में होने वाली आईसीसी प्रतियोगिता से पहले टीम के लिए बहुत बड़ा झटका है. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) के एक अधिकारी ने 29 सितंबर को पीटीआई से कहा कि बुमराह पीठ दर्द की गंभीर समस्या (स्ट्रेस फ्रैक्चर) से परेशान हैं और उन्हें महीनों तक टीम से बाहर रहना पड़ सकता है. बीसीसीआई अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘यह तय है कि बुमराह टी20 विश्व कप में नहीं खेल पाएंगे. उन्हें पीठ दर्द की गंभीर परेशानी है और उन्हें छह महीने तक बाहर रहना पड़ सकता है.’

स्ट्रेस फ्रैक्चर में हड्डी में एक छोटी सी दरार हो जाती है, यह समस्या खिलाड़ियों में आम है. हड्डी की चोट पर अगर शुरू से ध्यान न दिया जाये जो यह स्ट्रेस फ्रैक्चर में बदल सकता है. स्ट्रेस फ्रैक्चर से निपटने लिए किसी सर्जरी की जरूरत नहीं होती है, लेकिन इससे उबरने में काफी समय लगता है. इसका सबसे अच्छा इलाज विश्राम है. बुमराह की जगह मुख्य टीम में दीपक चाहर या मोहम्मद शमी को शामिल किया जा सकता है. बीसीसीआई ने इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता के लिए इन दोनों को स्टैंडबाई रखा है.

Tags: Jasprit Bumrah, T20 World Cup, T20 World Cup 2022, Team india

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.