Kheer Bhawani Mela- India TV Hindi
Image Source : SOURCED
Kheer Bhawani Mela

Kheer Bhawani Mela: जम्मू-कश्मीर के गांदरबल जिले के तुल्लामुल्ला गांव में वार्षिक माता खीर भवानी मेला आज से शुरू हो गया। इस खास मेले में कश्मीरी पंडित और पर्यटक मंदिर में दर्शन करने आते हैं। तुल्लामुल्ला मंदिर स्थानीय कश्मीरी पंडित समुदाय का सबसे पवित्र मंदिर होने के साथ-साथ कश्मीर के विभिन्न समुदायों के बीच सदियों पुरानी उदार संस्कृति और भाईचारे का भी प्रतीक है।

मंदिर के अंदर के झरने का ऐतिहासिक महत्व है। स्थानीय लोगों का मानना है कि त्योहार के दिन इसके पानी का रंग अगले साल तक होने वाली घटनाओं का पूर्वाभास देता है।

स्थानीय धर्मार्थ ट्रस्ट, झरनों से घिरे भूमि के एक बड़े हिस्से में फैले मंदिर परिसर का रखरखाव करता है। जिले के गांदरबल के तुलमुल्ला क्षेत्र में माता राग्या देवी के मंदिर में बड़ी संख्या में भक्तों के पहुंचने की तस्वीर नजर आईं।

इस साल कश्मीरी पंडितों और गैर स्थानीय लोगों की गई हत्यायों के बीच भक्तों की संख्या कम देखी गई। डर से त्रस्त घाटी में पिछले चार सप्ताह से लगातार अल्पसंख्यकों की हत्याएं हो रही हैं। भय और अराजकता के बीच सांप्रदायिक सद्भाव और भाईचारे के लिए पवित्र मंदिर में विशेष पूजा अर्चना की गई।

ज्यादातर कश्मीरी पंडितों को मंदिर में त्योहार की रस्में निभाते हुए देखा गया, इसके अलावा मुसलमानों को पंडितों का अभिवादन और व्यवस्था करते देखा गया।

ऐतिहासिक त्योहार के दौरान इस मंदिर में हमेशा सांप्रदायिक सद्भाव देखने को मिलता है। यहां के स्थानीय मुसलमानों 1990 के दशक की शुरुआत में कश्मीर से पलायन करने वाले पंडित समुदाय के साथ फिर से जुड़ने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। 

यहां पढ़ें

Aries Monthly Horoscope June 2022: मेष राशि वालों को हो सकती है ये परेशानी

Shani Vakri Gochar: शनि चल रहे हैं उल्टी चाल, इन 5 राशियों को हो सकता है धन का नुकसान

Vastu Shastra: घोड़ों की किस रंग की तस्वीर या मूर्ति लगाने से मिलेगी सफलता? जानिए

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.