हाइलाइट्स

बांग्लादेश के खिलाफ पहले वनडे में टीम इंडिया की बल्लेबाज फेल रही
लोकेश राहुल ने अर्धशतक लगाकर टीम की लाज बचाई
कप्तान रोहित शर्मा ने खराब बल्लेबाजी को हार के लिए जिम्मेदार ठहराया

मीरपुर. मेजबान बांग्लादेश ने पहले वनडे में टीम इंडिया को रोमांचक मुकाबले में एक विकेट से हराकर सीरीज में बढ़त बना ली. कप्तान रोहित शर्मा, विराट कोहली समेत भारतीय टीम के कई धुरंधर बल्लेबाज पूरी तरह फेल रहे. लोकेश राहुल ने अर्धशतक लगाकर टीम की लाज बचाई और भारतीय टीम 186 रन पर सिमट गई. राहुल ने 73 रन की पारी खेली. बांग्लादेश की ओर से बाएं हाथ के स्पिनर शाकिब अल हसन ने 36 रन देकर पांच जबकि इबादत हुसैन ने 47 रन देकर चार विकेट चटकाए. बांग्लादेश की ओर की गई शानदार गेंदबाजी का नतीजा यह रहा कि भारतीय टीम 41.2 ओवर में सिमट गई. जवाब में 187 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी बांग्लादेश की शुरुआत भी खराब रही. सलामी बल्लेबाज शांतो बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए. ओपनर लिटन दास ने 63 गेंदों में 43 रन की पारी खेलकर टीम को थोड़ा संभालने की कोशिश की. बीच के ओवर में जरूर बांग्लादेश पर भारतीय गेंदबाज हावी हो गए.

36वें ओवर में मैदान पर आए मेहदी हसन मिराज ने अपनी नाबाद 38 रन की चमत्कारिक पारी से मैच का पासा पलट दिया. उन्होंने मुस्फिजुर रहमान ने 10वें विकेट के लिए नाबाद 51 रन की नाबाद साझेदारी करके टीम को अविश्वसनीय जीत दिला दी.

मैच के बाद भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने कहा, ‘यह बहुत ही करीबी मुकाबला था. हमने मैच में वापसी करने की शानदार कोशिश की. हमारी बल्लेबाजी खराब रही लेकिन गेंदबाजी शानदार रही. हमने अंत तक बांग्लादेश के खिलाड़ियों पर दबाव बनाए रखा. अगर आप देखें कि पाएंगे हमने पिछले कुछ ओवर में अंत में विकेट निकाले हैं. रन ज्यादा नहीं बना पाए. 30-40 रन अगर और बन जाते तो निश्चित रूप से फर्क पड़ता. केएल राहुल और वाशिंगटन सुंदर दोनों ने शानदार खेल दिखाया.’

IND vs BAN: अंतिम जोड़ी की बड़ी साझेदारी और मेहदी का कैच छोड़ना, भारत की हार के 5 कारण

‘हिट मैन’ ने आगे कहा, ‘दुर्भाग्य से हमने बीच के ओवर में विकेट गंवाए, फिर वापसी करना मुश्किल था. पिच पर बल्लेबाजी करना चुनौतीपूर्ण था. आपको यह समझना होगा कि बल्लेबाजी कैसे करें. कोई बहानेबाजी नहीं, हम इस तरह की परिस्थितियों में खेलने के आदी हैं. हमें यह देखने की जरूरत है कि इस तरह की परिस्थितियों में स्पिनर के खिलाफ बल्लेबाजी कैसे करें. सभी साथी खिलाड़ी इस तरह के हालात में खेलकर आगे बढ़े हैं. यह सब दबाव से निपटने की बात है. जब एक बार आप दबाव से निपटना जानने लगते हैं तो यह आपको आत्मविश्वास प्रदान करता है. इस तरह के हालात में दबाव से जूझना बहुत जरूरी है. उम्मीद है कि अगले गेम में सुधार होगा.’

Tags: India vs Bangladesh, Rohit sharma, Shakib Al Hasan

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.