डिजिटल डेस्क, लखनऊ। ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड (एआईएसपीएलबी) ने नेटफ्लिक्स और वेब सीरीज ए सूटेबल बॉय के एपिसोड में से एक में निर्माताओं को एक ताजि़या (इमाम हुसैन की समाधि की प्रतिकृति) का अपमान करके शियाओं की धार्मिक भावनाओं को जानबूझकर आहत करने के लिए कानूनी नोटिस भेजा है। वेब श्रृंखला का निर्देशन मीरा नायर ने किया है और बीबीसी स्टूडियो द्वारा वितरित किया गया है। यह नेटफ्लिक्स ओटीटी प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है।

बोर्ड ने अपने नोटिस के जरिए मांग की है कि निर्माता वेब सीरीज से इस सीन को हटा दें और सार्वजनिक तौर पर माफी मांगें। एआईएसपीएलबी ने कहा कि श्रृंखला के चौथे एपिसोड में एक दृश्य ताजि़या के जानबूझकर अपमान को दर्शाता है जिसने न केवल शिया समुदाय बल्कि उन सभी हिंदुओं, हुसैनी ब्राह्मणों और सुन्नियों की भावनाओं को आहत किया है जो मुहर्रम का पालन करते हैं और ताजि़या निकालते हैं।

नोटिस में कहा गया, यदि उक्त दृश्य, को हटाया नहीं जाता है और निमार्ताओं और वितरकों द्वारा सार्वजनिक माफी जारी नहीं की जाती है तो भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 295 ए के तहत अपराधियों के खिलाफ आपराधिक कार्यवाही शुरू की जाएगी। इस धारा में जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कृत्यों के लिए आरोप और कार्रवाई शामिल है, जिसका उद्देश्य किसी भी वर्ग की धार्मिक भावनाओं को उसके धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान करना है। इस मामले में हस्तक्षेप के लिए नोटिस की एक प्रति केंद्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी और केंद्रीय सूचना मंत्री अनुराग ठाकुर को भी भेजी गई है।

(आईएएनएस)



Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.