नई दिल्ली. रणजी ट्रॉफी के क्वार्टर फाइनल मुकाबले खेले जा रहे हैं, जिसमें मुंबई की टक्कर उत्तराखंड से हो रही है. इस मैच का आज दूसरा दिन है और मुंबई काफी मजबूत स्थिति में पहुंच गया है. मुंबई ने पहली पारी में 500 से ज्यादा रन बना लिए हैं. मुंबई को इस स्कोर के पार पहुंचाने में दो बल्लेबाजों का अहम रोल रहा. एक सरफराज खान, जिन्होंने इस सीजन का तीसरा शतक ठोका और 153 बनाकर आउट हुए और दूसरे बल्लेबाज रहे सुवेद पारकर. उन्हें चोटिल अजिंक्य रहाणे के स्थान पर इस मुकाबले में खेलने का मौका मिला और अपने फर्स्ट क्लास डेब्यू पर ही इस बल्लेबाज ने दोहरा शतक जड़कर इतिहास रच दिया.

सुवेद फर्स्ट क्लास डेब्यू पर मुंबई की तरफ से दोहरा शतक लगाने वाले दूसरे बल्लेबाज बन गए. उनसे पहले मुंबई के लिए यह कारनामा 1994 यानी 28 साल पहले अमोल मजूमदार ने किया था. तब उन्होंने मुंबई की ओर से खेलते हुए हरियाणा के खिलाफ फर्स्ट क्लास डेब्यू पर दोहरा शतक जड़ा था. वो 260 रन बनाकर आउट हुए थे.

यह भी पढ़ें: Ranji Trophy Quarterfinals LIVE SCORE: डेब्यूटेंट सुवेद पारकर ने जड़ा दोहरा शतक, सुदीप कुमार डबल सेंचुरी चूके

Ranji Trophy Quarterfinal: IPL में नहीं हुई टैलेंट की कद्र, अब सीजन का तीसरा शतक ठोककर टीम को मुश्किल से उबारा

दिलचस्प बात यह कि अमोल, फिलहाल मुंबई क्रिकेट टीम के कोच हैं और जब सुवेद ने यह उपलब्धि हासिल की, तो अमोल भी इसके गवाह बने. फर्स्ट क्लास डेब्यू पर सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड बिहार के सकीबुल गनी के नाम हैं. उन्होंने रणजी ट्रॉफी के इसी सीजन के लीग स्टेज में मिजोरम के खिलाफ डेब्यू पर 341 रन की रिकॉर्ड पारी खेली थी.

सुवेद ने उत्तराखंड के खिलाफ क्वार्टर फाइनल मुकाबले के दूसरे दिन स्वप्निल सिंह की एक गेंद को लॉन्ग ऑफ की तरफ खेला और एक रन लेकर अपना दोहरा शतक पूरा किया. इसके लिए उन्होंने 375 गेंद खेली. फर्स्ट क्लास डेब्यू पर दोहरा शतक लगाने वाले 12वें भारतीय हैं और इस सीजन में डेब्यू पर 200 या उससे अधिक रन बनाने वाले तीसरे बल्लेबाज हैं. उनसे पहले सकीबुल गनी (341) और महाराष्ट्र के पवन शाह (219) रन की पारी खेल चुके हैं.

200 रन की पारी में 17 चौके और 3 छक्के जड़े 

200 रन बनाने में सुवेद के बल्ले से 17 चौके और 3 छक्के निकले. सुवेद ने अपना शतक पहले दिन ही पूरा कर लिया था. स्टम्प्स के बाद जब उनसे डेब्यू पर शतक को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि टीम के लिए आप योगदान दे पाएं, यह वाकई खुशी की बात होती है. नॉक आउट मुकाबले से फर्स्ट क्लास डेब्यू करना अपने आप में खास है और इस मैच में शतक आना सोने पर सुहागे जैसा है.

दिनेश लाड से सीखी बल्लेबाजी की बारीकियां

सुवेद ने रोहित शर्मा के कोच दिनेश लाड से ही बल्लेबाजी की बारीकियां सीखी हैं. वो बोरिवली के उसी स्वामी विवेकानंद इंटरनेशनल स्कूल के छात्र हैं, जहां से रोहित निकले हैं. उन्होंने ऐज ग्रुप लेवल क्रिकेट से ही अपनी काबिलियत साबित करना शुरू कर दी थी. वो 2019-20 में भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम से खेल चुके हैं और पिछले महीने ही मुंबई को सीके नायडू ट्रॉफी जिताने में उनका अहम रोल था.

Tags: Mumbai, Mumbai Cricket Association, Ranji Trophy

Source link

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.